बच्चा चोरी की अफवाहो से अब तक हो चुकी हैं कई मौतें

Updated on: 19 November, 2019 06:47 AM

उत्तर प्रदेश में बच्चा चोरी की अफवाहें अब हिंसक होती जा रही हैं। पुलिस भले ही स्थिति काबू में होने का दावा कर रही हो, लेकिन इसे लेकर हिंसा लगातार बढ़ रही है। संभल में तो भीड़ ने बच्चा चोरी के शक में मंदबुद्घि व्यक्ति को पीट-पीटकर मार डाला। इलके अलावा लखनऊ, कानपुर, फतेहपुर, रायबरेली, बहराइच, मेरठ, बलुंदशहर, बागपत, हापुड़ और अलीगढ़ में बच्चा चोरी की अफवाह पर लोग सड़कों पर उतर आये और जो हत्थे चढ़ा उसकी जमकर पिटाई कर दी।

संभल में दूसरी हत्या, कई जगह मारपीट
बच्चा चोरी के शक में अमरोहा के हसनपुर तहसील के आदमपुर थाना क्षेत्र के गांव देहरी खादर के नजदीक भीड़ ने मंदबुद्धि शख्स को पीट-पीटकर मार डाला। बताया जा रहा है कि मंगलवार देर रात देहरी खादर के जंगल में नलकूप पर सो रही महिला ने 40 वर्षीय एक मंदबुद्धि शख्स पर अपने 6 वर्षीय बच्चे को छीन कर ले जाने का आरोप लगाया। शोर सुनकर मौके पर गांव के लोगों की भीड़ जमा हो गई। आरोप है कि भीड़ ने उस शख्स को पकड़कर बुरी तरह पीटा, भीड़ उसे पीटते हुए सड़क पर घसीटकर जंगल तक ले गई। इस बबर्रता से उसकी मौत हो गई। रात में गांव के एक युवक ने सोशल मीडिया पर गांव में बच्चा चोर के आने को लेकर मैसेज डाला।

उधर, बुधवार सुबह गांव से 300 मीटर दूर संभल जिले के रजपुरा थाना की गंवा चौकी क्षेत्र में महावा नदी पुल के नीचे लोगों ने एक शव पड़ा देखा। रजपुरा पुलिस ने किसी हादसे में मंदबुद्धि के पुल से गिर जाने को मौत की वजह मानते हुए मुकदमा दर्ज करने की तैयारी शुरू की मगर इसी बीच मंदबुद्धि युवक की मौत का लाइव वीडियो वायरल हो गया। वीडियो में भीड़ मंदबुद्धि को मारते-पीटते व सड़क पर घसीटकर गांव से बाहर ले जाते हुए दिखाई दे रही है। इस वीडियो को देखने के बाद संभल पुलिस ने मान लिया कि मंदबुद्धि को पीटकर मारे जाने का ही मामला है।

मुरादाबाद मंडल में तीन की जान गई
मुरादाबाद मंडल के रामपुर, अमरोहा और संभल जनपदों में पिछले 24 घंटे में बच्चा चोरी के शक में तीन लोगों की पीट-पीट कर हत्या की जा चुकी है। इसके साथ ही पिछले एक सप्ताह में ऐसी लगभग 18 घटनाएं प्रकाश में आई हैं, जिनमें लोगों ने बच्चा चोरी के आरोप में लोगों को पकड़ा है, पीटा है और बाद में पुलिस के हवाले कर दिया है। हालांकि जांच में ये सभी मामले झूठे पाए गए। ग्रामीणों ने केवल शक के आधार पर लोगों को बुरी तरह से पीटा है। मुरादाबाद में चोरी के आरोपी को भीड़ ने पकड़ कर पीट-पीटकर मार डाला था। इन मामलों में अधिकांश अपरिचित लोग ही भीड़ हिंसा का शिकार हुए। अब पुलिस इन मामलों की जांच में यह पता लगाने की कोशिश कर रही है कि आखिर बच्चा चोरी की आशंकाओं वाली अफवाहें सही हैं या फिर इनके पीछे क्षेत्र के बवालियों का दिमाग है।

फतेहपुर में बच्चा चोर के शक में पथराव
बच्चा चोरी करने वाले गिरोह की आशंका में बुधवार को ग्रामीणों ने स्वास्थ्य विभाग की टीम को बंधक बना लिया। उपद्रवियों ने पुलिस को भी दौड़ाते हुए पथराव कर दिया। इसमें दरोगा, सिपाही समेत तीन लोग घायल हो गए। गाजीपुर थाने के खेसहन गांव टीकाकरण के लिए पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम डॉक्टर के इंतजार में गांव के किनारे खड़ी थी। गांव किनारे एंबुलेंस खड़ी देखकर गांव वाले पहुंचे और टीम के सदस्य एलटी जितेन्द्र कुमार, एएनएम सोनम देवी, अलका, शीला देवी और चालक अनीस को बच्चा चोर गिरोह बताते हुए शोरशराबा शुरू कर दिया। इस पर सैकड़ों ग्रामीण लाठी-डंडा लेकर पहुंचे और एंबुलेंस को घेर लिया। वाहन पत्थर बरसाने लगे। सिर पर पत्थर लगने से दरोगा सुनील कुमार यादव, सिपाही सरनाम सिंह यादव और मीडिया कर्मी राजू तिवारी घायल हो गए। बवाल की सूचना पर भारी फोर्स के साथ अधिकारी पहुंचे और स्थिति को नियंत्रण में करते हुए स्वास्थ्य कर्मियों को मुक्त कराया।

कानपुर में अर्द्धविक्षिप्त को पीटने वाले 6 गिरफ्तार
अकबरपुर कोतवाली के स्वरूपपुर गांव से बच्चा चोरी की अफवाह पर एक अर्द्ध विक्षिप्त को पीटने के मामले में पुलिस ने सात नामजद सहित 15-20 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। इसके साथ ही रात में ही ताबड़तोड़ दबिश देकर 6 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। मंगलवार शाम अकबरपुर कोतवाली के स्वरूपपुर गांव में लोगों ने गांव में बच्चा चोर आने की अफवाह फैला दी। तलाशी के दौरान इसमें नबीपुर के झाड़ीबाबा आश्रम के निकट छत्तीसगढ़ रायग़ढ़ के बिल्लू नाम के अर्द्धविक्षिप्त युवक के मिलने पर लोगों ने उस पर हमला कर अधमरा कर दिया था।

रायबरेली में वृद्ध और महिला को पीटा
रायबरेली में बच्चा चोरी की झूठी अफवाहों के बीच बुधवार को अलग-अलग थाना क्षेत्रों में एक वृद्ध और महिला की लोगों ने पिटाई कर दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों को अस्पताल पहुंचाकर पिटाई करने वालों की खोजबीन शुरू कर दी है।  खीरों थाना क्षेत्र के मेदौली गांव में बुधवार सुबह गांव में घूम रहे एक मानसिक विक्षिप्त बुजुर्ग सुदामा निवासी सीवान (बिहार) की  ग्रामीणों ने बच्चा चोर कहते हुए पिटाई शुरू कर दी। जबकि मिल एरिया थाना क्षेत्र के देवानन्दपुर गांव में बुधवार को मुम्बई की रहने वाली एक अर्द्धविक्षिप्त महिला की पिटाई की गई।

दिल्ली पुलिस को बच्चा चोर समझ बंधक बनाने की कोशिश
दिल्ली के वेलकम थाने में भोजीपुरा के भूड़ निवासी शानू पर उसकी पत्नी रानी ने दहेज उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज कराया हुआ है। बुधवार को वेलकम थाने के एएसआई खुर्शीद अली स्कार्पियो से दो सिपाहियों के साथ सादे कपड़ों में सम्मन तामील कराने भूड़ गांव आए थे। समन तामील कराकर वे जैसे ही जाने लगे गांव की महिलाओं और पुरुषों ने उन्हें घेर लिया। इसके बाद किसी ग्रामीण ने भोजीपुरा पुलिस को बताया कि उन्होंने बच्चा चोर को पकड़ लिया है। सूचना पर पुलिस तुरंत मौके पर पहुंची। वहां भोजीपुरा पुलिस को स्कार्पियो में बैठे एएसआई खुर्शीद अली ने अपना आईकार्ड दिखाया।  इसके बाद पुलिस सभी को भोजीपुरा थाने ले आई।

मेरठ में भीड़ हिंसा में 15 गिरफ्तार
मेरठ पुलिस ने भीड़ हिंसा के मामले में 15 आरोपियों को बुधवार को गिरफ्तार कर लिया। इसमें 10 आरोपी वे हैं, जिन्होंने एक दिन पहले लिसाड़ी गेट क्षेत्र में बच्चा चुराने के शक में महिला पर हमला बोला था। वहीं लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र के समर गार्डन में हुई वारदात में भी तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। इसके अलावा बहसूमा क्षेत्र में भी एक मंदबुद्धि की बच्चा चोर समझकर पिटाई की गई। इसमें भी पुलिस ने दो आरोपियों को पकड़ लिया है।  हापुड़ के रफीकनगर निवासी रूबीना ने 21 नामजद और करीब डेढ़ सौ अज्ञात के खिलाफ लिसाड़ी गेट थाने में कई गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया है। वीडियो फुटेज के आधार पर पुलिस ने मंगलवार देर रात दबिश देकर 10 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। एडीजी प्रशांत कुमार का कहना है कि कानून हाथ में लेने वालों से पुलिस सख्ती से निपटेगी।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया