यूपी : पेट्रोल लेकर पानी टंकी पर चढ़ा परिवार, 24 घंटे से मनाने में जुटी पुलिस,जानिए पूरा मामला

Updated on: 20 October, 2019 02:19 AM

यूपी की राजधानी लखनऊ में पानी टंकी पर चढ़ा हरदोई से आया परिवार 24 घंटे के बाद भी उतरने को तैयार नहीं है। लखनऊ पुलिस और अन्य अधिकारियों के सारे प्रयास विफल हो गए हैं। वे लोग अपहरण के मामले में आरोपियों के खिलाफ हरदोई पुलिस के कार्रवाई नहीं करने से नाराज है।

हरदोई से आये परिवार के सात लोग शुक्रवार सुबह 10.30 बजे दुबग्गा जॉगर्स पार्क स्थित पानी की टंकी पर चढ़ गए। टंकी पर परिवार के चढ़ने की खबर मिलते ही काकोरी पुलिस और तहसीलदार पहुंच गये। पुलिस अधिकारी परिवार से नीचे उतरने की मिन्नत करते रहे, जिसका कोई असर नहीं हुआ। टंकी पर चढ़े लोगों पर नजर रखने के लिए ड्रैगन लाइट मंगाने के साथ ही फायर ब्रिगेड को भी मदद के लिए बुलाया गया।

हरदोई ग्राम छोली बरिया निवासी विनय प्रताप सिंह अधिवक्ता हैं। उनका पुश्तैनी जमीन को लेकर करीबी रिश्तेदारों से विवाद है। विनय के अनुसार 11 जनवरी 2016 को छोटे भाई विवेक सिंह को प्रतिद्वंद्वी लल्लन सिंह, वीरपाल, भोला सिंह, संजय सिंह, कृष्णपाल सिंह, अमर सिंह और भरत सिंह ने अगवा कर लिया था। विवेक का अपहरण करने के मामले में आरोपियों के खिलाफ थाना सुरसा में रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी। विनय के मुताबिक पुलिस लल्लन सिंह और उसके साथियों के दबाव में थी। इस वजह से बिना जांच किये ही फाइनल रिपोर्ट लगा दी गई। पुलिस की कार्रवाई से दबंगों को बल मिल गया। वे लोग विनय के परिवार को धमकाने लगे।

डीएम-एसएसपी से थे नाराज: विपक्षियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं होने से विनय प्रताप सिंह डीएम पुलकित खरे और एसएसपी आलोक प्रियदर्शी से नाराज थे। विवश होकर शुक्रवार को वे पत्नी राधा सिंह, भाई अजय प्रताप सिंह, बहू माला सिंह, भतीजे शिव सिंह, बहन राजवती सिंह और बेटी पूनम को साथ लेकर टंकी पर चढ़ गये। पेट्रोल की पिपिया लेकर चढ़े परिवार ने चादर में आग लगाने का प्रयास भी किया।

डीजीपी को बुलाने पर अड़े
परिवार संग टंकी पर चढ़े विनय प्रताप सिंह ने एक कागज पर अपना फोन नम्बर लिखकर नीचे फेंका। इसके बाद एएसपी ग्रामीण विक्रांतवीर और हरदोई के एएसपी ज्ञानंजय सिंह ने फोन पर विनय से बात की। अधिकारियों के मुताबिक विनय 50 लाख का मुआवजा, परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी और अपहरण के मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग कर रहा है। इसके साथ ही वकील ने डीजीपी ओपी सिंह को मौके पर बुलाने की शर्त भी रखी है।

रस्सी से खींची पानी की बोतल
विनय ने फोन कर पॉवर बैंक और पानी की बोतल भेजने के लिए कहा। पुलिस अधिकारियों ने सिपाही को बोतल लेकर ऊपर जाने के लिए कहा। इस पर विनय ने सिपाही को आने से रोक दिया। उसने रस्सी फेंकते हुए एक पोटली में बोतल और पॉवर बैंक बांधने के निर्देश दिये। मना करने पर वह छलांग लगाने की धमकी देने लगा। जरूरत का सामान मिलते ही विनय ने मोबाइल फोन स्विच ऑफ कर लिया।

आरोपित प्रधान को हरदोई पुलिस ने हिरासत में लिया
लखनऊ में परिवार समेत अधिवक्ता विनय प्रताप के पानी की टंकी पर चढ़ने के मामले में पुलिस ने आरोपित प्रधान लल्लन सिंह को हिरासत में ले लिया है। रात में ही पुलिस ने लल्लन को पकड़ लिया। लल्लन का कहना है कि वे बेकसूर हैं। उन्हें बेवजह फंसाया जा रहा है। थाना पुलिस का कहना है कि पूछताछ की जा रही है। जांच कर कार्रवाई की जाएगी। वहीं अन्य आरोपित भूमिगत हो गए हैं।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया