बनारस में फर्जी आयुष्मान कार्ड बनाने वाले गिरफ्तार

Updated on: 19 November, 2019 01:59 AM

स्वास्थ्य विभाग ने फर्जी तरीके से आयुष्मान कार्ड बनाने वाले जनसेवा केंद्र के दो कर्मचारियों को रंगे हाथों पकड़ा है। दोनों को विभागीय अधिकारियों ने कैंट थाने को सौंपा जिन्हें हिरासत में लिया गया है। पुलिस दोनों आरोपियों से पूछताछ कर रही है।

बुधवार को बड़ी बाजार में शैलपुत्री निवासी स्कंद कुमार अश्वनी और सरैया निवासी इसराक अहमद को गिरफ्तार किया गया। दोनों के पास से दो दर्जन से ज्यादा फर्जी राशन कार्ड बरामद किए गए हैं जिन पर मोहर लगी हुई है। इन दोनों के पास इन कार्डों की फोटोकॉपी भी मिली है।

आरोप है कि दोनों एक कार्ड बनाने का दो से तीन हजार रुपये लेते थे। स्वास्थ्य विभाग में डिस्ट्रिक्ट इन्फॉरमेशन सिस्टम मैनेजर नवेंद्र कुमार सिंह की तहरीर पर दोनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

नवेंद्र कुमार सिंह के अनुसार खजुरी पार्षद प्रतिनिधि मयंक चौबे ने फर्जी तरीके से आयुष्मान कार्ड बनाने की सूचना दी थी। इसके बाद आरोपियों को रंगे हाथों पकड़ने के प्रयास किये जा रहे थे। स्वास्थ्य विभाग को कुछ अन्य जनसेवा केंद्रों के कर्मचारियों द्वारा भी फर्जी तरीके से आयुष्मान कार्ड बनाने की सूचना मिली है जिसकी जांच कराई जा रही है।

प्रबंधक ने माना, दोनों केंद्र के कर्मचारी हैं

बड़ी बाजार में रंगे हाथों पकड़े गए दोनों आरोपियों ने पहले जनसेवा केंद्र के कर्मचारी होने की बात कही। जब स्वास्थ्य विभाग के अफसरों ने केंद्र के प्रबंधक से इसकी पुष्टि की तो पहले उसने इनकार कर दिया लेकिन देर शाम दोनों के शैलपुत्री स्थित केंद्र का कर्मचारी होने की पुष्टि की।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया