भारतीय सेना की कार्रवाई- पीओके में चार आतंकी कैंप तबाह, 10 पाकिस्तानी सैनिक ढेर

Updated on: 12 November, 2019 10:14 AM

भारतीय सेना की तरफ से पीओके (PoK) में आतंकी कैंप को नष्ट करने की आर्मी चीफ बिपिन रावत (Bipin Rawat) ने पुष्टि की। उन्होंने बताया कि भारतीय सेना ने अपने इस ऑपरेशन में शनिवार और रविवार की रात को पीआके स्थित आतंकी कैंपों पर तोप से निशाना साधा। जनरल रावत ने बताया कि भारतीय सेना की इस कार्रवाई में छह से दस पाकिस्तानी सैनिक मारे गए हैं, जबकि पीओके स्थित तीन आतंकी कैंप पूरी तरह ध्वस्त हो गए। आतंकी कैंपों पर हुए हमले में कई आतंकियों के मारे जाने की भी जनरल रावत ने पुष्टि की।

आर्मी चीफ बोले- पीओके में ध्वस्त किए तीन आतंकी कैंप

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक आर्मी चीफ जनरल बिपिन रावत ने कहा, 'पिछली रात तंगधार में पाकिस्तान की ओर से भारतीय सीमा में आतंकियों की घुसपैठ की कोशिश कराई जा रही है। जिसके बाद भारतीय सेना ने जवाबी कार्रवाई की। इसके फौरन बाद ही पाकिस्तान की तरफ से भारतीय सैन्य चौकियों पर फायरिंग की जाने लगी। इससे हमें नुकसान हुआ लेकिन जब तक कि वे घुसपैठ कर पाते यह तय किया गया कि हम सीमापार आतंकी कैम्पों को निशाना बनाएं। जिसके बाद भारतीय सेना की कार्रवाई में आतंकियों के कैम्पों में काफी तबाही हुई।'

बिपिन रावत ने आगे कहा, 'कश्मीर में शांति का माहौल है। सेब के कारोबार समेत सभी बिजनस चल रहे हैं। पाकिस्तान की कोशिश है कि वहां शांति का माहौल न बनने दिया जाए ताकि अंतरराष्ट्रीय समुदाय को बताया जा सके कि 370 हटने के बाद से कश्मीर में माहौल सही नहीं है। हमने आर्टिलरी गन्स के जरिए आतंकी कैंपों को टारगेट किया।'

रक्षामंत्री ने की आर्मी चीफ से बात

इससे पहले एएनआई ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने जम्मू कश्मीर के तंगधार सेक्टर में पाकिस्तानी सेना की तरफ से संघर्षविराम उल्लंघन के बाद भारतीय सेना जवाबी कार्रवाई को लेकर आर्मी चीफ बिपिन रावत से बात की। रक्षामंत्री व्यक्तिगत तौर पर स्थिति का जायजा ले रहे हैं। इसके साथ ही, आर्मी चीफ से रक्षामंत्री ने कहा कि वे उन्हें अपडेट्स देते रहें।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया