लंदन में भारतीय उच्चायोग के सामने 'फ्री कश्मीर' प्रदर्शन पर रोक

Updated on: 07 December, 2019 05:58 PM

कश्मीर मुद्दे को लेकर दिवाली के दिन भारतीय उच्चायोग के समक्ष होने वाले प्रदर्शन पर ब्रिटिश पुलिस ने रोक लगा दी है। यह प्रदर्शन 27 अक्टूबर को ब्रिटिश कश्मीरियों और पाकिस्तानियों द्वारा किया जाने वाला था, जिस पर भारत ने कड़ी आपत्ति जताई थी। माना जा रहा है कि कश्मीर को दिए गए विशेष राज्य के दर्जे को समाप्त करने के भारत सरकार के फैसले के खिलाफ होने वाले इस प्रदर्शन पर रोक लगाने के लिए ब्रिटेन की गृह मंत्री प्रीति पटेल ने पुलिस से संपर्क किया था। ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने संसद में कहा था कि गृह मंत्री पुलिस से बात कर भारत सरकार की चिंताओं से अवगत कराएंगी।

प्रदर्शनकारियों ने संसद भवन से लेकर भारतीय उच्चायोग तक 'फ्री कश्मीर' मार्च निकालने की अनुमति मांगी थी। लेकिन, पुलिस ने आयोजकों से कहा है कि वे जुलूस को ट्राफालगर स्कवायर तक ही ले जा सकते हैं। उन्हें भारतीय उच्चायोग तक जाने की अनुमति नहीं है। पाकिस्तान के समाचार पत्र 'द न्यूज' से कश्मीरी समूहों ने कहा कि भारत सरकार इस मार्च पर रोक लगाने के लिए ब्रिटेन की गृह मंत्री प्रीति पटेल, लंदन के मेयर सादिक खान और टोरी सरकार से संपर्क बनाए हुए थी। उन्होंने कहा कि भारतीय मूल की प्रीति ने इसमें पूरी रुचि ली और पुलिस से समन्वय बनाया।

हालांकि, अखबार ने बताया कि ब्रिटिश गृह मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि यह रोक पुलिस की कार्रवाई का हिस्सा है और इसका गृह मंत्री से कोई लेना-देना नहीं है। इससे पहले मेयर सादिक खान ने दिवाली के दिन मार्च निकालने की निंदा की थी और आयोजकों से इसे रद्द करने के लिए कहा था। बीती 15 अगस्त को भारतीय उच्चायोग के सामने हुए ऐसे ही एक प्रदर्शन में प्रदर्शनकारियों ने उत्पात मचाया था और उच्चायोग के भवन को नुकसान पहुंचाया था।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया