आगरा में NHAI ने फैलाया वायु प्रदूषण, UPPCB ने लगाया 6.84 करोड़ रुपये का जुर्माना

Updated on: 19 November, 2019 01:58 AM

राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI) पर उत्तर प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (UPPCB) ने आगरा में पर्यावरण को नुकसान पहुंचाने और वायु प्रदूषण फैलाने पर 6.84 करोड़ का जुर्माना लगाया है। 15 दिन में जुर्माना राशि जमा नहीं करने पर एनएचएआई के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।

मथुरा, आगरा, फिरोजाबाद समेत पूरे ताज ट्रिपेजियम जोन (TTJD) में पिछले पांच साल से राष्ट्रीय राजमार्ग-2 के चौड़ीकरण, फ्लाईओवर, अंडरपास निर्माण, मरम्मत व ध्वस्तीकरण आदि कार्य लापरवाह ढंग से चल रहे हैं। टीटीजेड कमेटी की 47वीं बैठक में मामला उठा। टीटीजेड चेयरमैन व कमिश्नर आगरा अनिल कुमार ने प्रदूषण फैलाने पर कार्रवाई के आदेश दिए थे।

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (CPCB) और यूपीपीसीबी टीम ने हाईवे पर निर्माणाधीन प्रोजेक्ट्स का सर्वे किया। पर्यावरण व प्रदूषण मानकों का उल्लंघन पाया गया। निर्माण एवं ध्वस्तीकरण के समय प्रदूषण फैलने से रोकने के उपाय नहीं किए गए। नोटिस का भी जवाब नहीं दिया गया। 1865 दिन के आकलन में एनएचएआई द्वारा पर्यावरणीय क्षति पाई गई।

सुप्रीम कोर्ट व एनजीटी द्वारा संवेदनशील घोषित टीटीजेड में पर्यावरण क्षति पहुंचाने और सीपीसीबी व यूपीपीसीबी रिपोर्ट के बाद मुख्य पर्यावरण अभियंता वृत्त-4 आरके सिंह ने इस मामले में एनएचएआई पर 6,84,37,500 रुपये का अर्थदण्ड लगाया है। यूपीपीसीबी क्षेत्रीय अधिकारी भुवन यादव ने बताया कि जुर्माना धनराशि एनएचएआई को 15 दिन में जमा करानी होगी। जुर्माना राशि जमा नहीं कराने पर एनएचएआई व परियोजना अधिकारियों के विरुद्ध वायु प्रदूषण अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया