सनसनीखेज: हैदराबाद में महिला अधिकारी को जिंदा जलाया, कर्मचारियों में दहशत

Updated on: 19 November, 2019 01:56 AM

तेलंगाना में सोमवार को घटी एक दिल दहला देने वाली घटना के तहत राज्य के राजस्व विभाग की एक महिला अधिकारी को उसके कायार्लय में एक व्यक्ति ने जिंदा जला दिया। कथित तौर पर वह व्यक्ति अपने भूमि रिकॉर्ड में त्रुटियों को दुरुस्त न किए जाने को लेकर अधिकारी से नाराज था।

यह घटना हैदराबाद के बाहरी हिस्से में स्थित रंगा रेड्डी जिले के अब्दुल्लापुरमेट तहसील कायार्लय में घटी। पुलिस ने कहा कि तहसीलदार या मंडल राजस्व अधिकारी (एमआरओ) विजया रेड्डी अपने चैम्बर में थीं, उसी समय हमलावर वहां पहुंचा और उसने उनके ऊपर पेट्रोल फेंक कर आग लगा दी।

महिला अधिकारी की घटनास्थल पर ही मौत हो गई, और एमआरओ को बचाने की कोशिश में दो कर्मचारी घायल हो गए। उनमें से एक की हालत गंभीर बताई गई है। पुलिस ने कहा कि हमलावर की पहचान सुरेश मुदिराजू के रूप में हुई है और इस घटना में वह भी झुलस गया और कायार्लय से बाहर भाग गया। कथित रूप से वह एक अस्पताल में भर्ती है।

पुलिस ने कहा कि यह घटना भोजनावकाश के दौरान घटी, जब कायार्लय में ज्यादा लोग नहीं थे। सुरेश इस बात से गुस्से में था कि अदालत के आदेश के बावजूद अधिकारी उसके भूमि दस्तावेज में त्रुटियों को दुरुस्त नहीं कर रहे थे।

तेलंगाना में सोमवार को घटी एक दिल दहला देने वाली घटना के तहत राज्य के राजस्व विभाग की एक महिला अधिकारी को उसके कायार्लय में एक व्यक्ति ने जिंदा जला दिया। कथित तौर पर वह व्यक्ति अपने भूमि रिकॉर्ड में त्रुटियों को दुरुस्त न किए जाने को लेकर अधिकारी से नाराज था।

यह घटना हैदराबाद के बाहरी हिस्से में स्थित रंगा रेड्डी जिले के अब्दुल्लापुरमेट तहसील कायार्लय में घटी। पुलिस ने कहा कि तहसीलदार या मंडल राजस्व अधिकारी (एमआरओ) विजया रेड्डी अपने चैम्बर में थीं, उसी समय हमलावर वहां पहुंचा और उसने उनके ऊपर पेट्रोल फेंक कर आग लगा दी।

महिला अधिकारी की घटनास्थल पर ही मौत हो गई, और एमआरओ को बचाने की कोशिश में दो कर्मचारी घायल हो गए। उनमें से एक की हालत गंभीर बताई गई है। पुलिस ने कहा कि हमलावर की पहचान सुरेश मुदिराजू के रूप में हुई है और इस घटना में वह भी झुलस गया और कायार्लय से बाहर भाग गया। कथित रूप से वह एक अस्पताल में भर्ती है।

पुलिस ने कहा कि यह घटना भोजनावकाश के दौरान घटी, जब कायार्लय में ज्यादा लोग नहीं थे। सुरेश इस बात से गुस्से में था कि अदालत के आदेश के बावजूद अधिकारी उसके भूमि दस्तावेज में त्रुटियों को दुरुस्त नहीं कर रहे थे।

इस घटना से सरकारी अधिकारियों के बीच दहशत का माहौल पैदा हो गया। कर्मचारियों ने विरोध प्रदर्शन शुरू कर दिया और उन्होंने सुरक्षा की मांग की। रचकोंडा के पुलिस आयुक्त महेश भागवत और वरिष्ठ अधिकारी घटनास्थल पर पहुंच गए हैं।

पुलिस का मानना है कि सुरेश महिला अधिकारी की हत्या की पूरी योजना बनाकर उसके कायार्लय पहुंचा था।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया