अयोध्या केस : फैसले वाले दिन आतंकी खतरे का इनपुट, बढ़ाई गई सुरक्षा

Updated on: 14 November, 2019 02:39 AM

अयोध्या मसले पर फैसला आने वाले दिन आतंकी खतरे का इनपुट मिला है। खुफिया सूत्रों से खबर है कि फैसले की आड़ में माहौल खराब करने के लिए ऐसा हो सकता है। इसके मद्देनजर कैंट एरिया में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। फैसले वाले दिन सुरक्षा व्यवस्था को और मजबूत करने के लिए पुलिस-प्रशासन की सेना के साथ आज ज्वाइंट बैठक बुलाई गई है।

एसएसपी अजय साहनी ने बताया कि मेरठ में आर्मी का कैंट एरियाअयोध्या केस : फैसले वाले दिन आतंकी खतरे का इनपुट, बढ़ाई गई सुरक्षा
अयोध्या मसले पर फैसला आने वाले दिन आतंकी खतरे का इनपुट मिला है। खुफिया सूत्रों से खबर है कि फैसले की आड़ में माहौल खराब करने के लिए ऐसा हो सकता है। इसके मद्देनजर कैंट एरिया में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। फैसले वाले दिन सुरक्षा व्यवस्था को और मजबूत करने के लिए पुलिस-प्रशासन की सेना के साथ आज ज्वाइंट बैठक बुलाई गई है।

एसएसपी अजय साहनी ने बताया कि मेरठ में आर्मी का कैंट एरिया होने से संवेदनशीलता थोड़ी ज्यादा है। अयोध्या फैसले को लेकर खुफिया एजेंसियों से लगातार इनपुट प्राप्त हो रहे हैं। इसमें एक इनपुट आतंकी खतरे का भी है। कैंट एरिया में सबसे संवेदनशील ऐतिहासिक एवं प्राचीन औघड़नाथ मंदिर है। इससे लाखों-करोड़ों श्रद्धालुओं की आस्था जुड़ी हुई है। इस मंदिर की सुरक्षा पहले से सेना के हाथ में है। कैंट एरिया में कुछ और प्रमुख स्थान हैं। आशंका है कि अयोध्या प्रकरण पर आने वाले फैसले की आड़ में माहौल खराब करने के लिए आतंकी कुछ प्लान कर सकते हैं। इसे लेकर पुलिस-प्रशासन के साथ सेना भी अलर्ट मोड पर है।

एसएसपी ने बताया कि गुरुवार को आर्मी के पश्चिम यूपी सब एरिया हेडक्वार्टर में जीओसी की अध्यक्षता में सेना, पुलिस और प्रशासन की ज्वाइंट मीटिंग सुबह साढ़े 10 बजे से होगी। इसमें जीओसी, कमिश्नर, आईजी सहित मेरठ मंडल के छह जिलों के डीएम-एसएसपी शामिल होंगे। इंटेलीजेंस अफसरों को भी बुलाया गया है। बैठक में कैंट एरिया की सुरक्षा पर विचार-विमर्श होगा। इंटेलीजेंस और आर्मी के इनपुट एक-दूसरे से साझा होंगे। होने से संवेदनशीलता थोड़ी ज्यादा है। अयोध्या फैसले को लेकर खुफिया एजेंसियों से लगातार इनपुट प्राप्त हो रहे हैं। इसमें एक इनपुट आतंकी खतरे का भी है। कैंट एरिया में सबसे संवेदनशील ऐतिहासिक एवं प्राचीन औघड़नाथ मंदिर है। इससे लाखों-करोड़ों श्रद्धालुओं की आस्था जुड़ी हुई है। इस मंदिर की सुरक्षा पहले से सेना के हाथ में है। कैंट एरिया में कुछ और प्रमुख स्थान हैं। आशंका है कि अयोध्या प्रकरण पर आने वाले फैसले की आड़ में माहौल खराब करने के लिए आतंकी कुछ प्लान कर सकते हैं। इसे लेकर पुलिस-प्रशासन के साथ सेना भी अलर्ट मोड पर है।

एसएसपी ने बताया कि गुरुवार को आर्मी के पश्चिम यूपी सब एरिया हेडक्वार्टर में जीओसी की अध्यक्षता में सेना, पुलिस और प्रशासन की ज्वाइंट मीटिंग सुबह साढ़े 10 बजे से होगी। इसमें जीओसी, कमिश्नर, आईजी सहित मेरठ मंडल के छह जिलों के डीएम-एसएसपी शामिल होंगे। इंटेलीजेंस अफसरों को भी बुलाया गया है। बैठक में कैंट एरिया की सुरक्षा पर विचार-विमर्श होगा। इंटेलीजेंस और आर्मी के इनपुट एक-दूसरे से साझा होंगे।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया