अयोध्या के फैसले से पहले राम जन्मभूमि विवाद पर अपना स्टैंड साफ करेगी कांग्रेस

Updated on: 06 April, 2020 01:59 AM

अयोध्या पर फैसले से पहले रविवार को कांग्रेस कार्यकारी समिति, पार्टी की बैठक कर राम जन्मभूमि विवाद पर अपना स्टैंड साफ करेगी। कांग्रेस के एक पदाधिकारी ने कहा कि पार्टी की सर्वोच्च निर्णय लेने वाली संस्था अपनी रणनीति को मजबूत करेगी और दशकों पुराने विवाद पर अपने रुख को स्पष्ट करेगी ताकि फैसले के बाद उसके नेता एक स्वर में बोलें।

विश्व हिंदू परिषद के एक शीर्ष पदाधिकारी ने बुधवार को कहा कि अयोध्या विवाद के मुकदमे में उच्चतम न्यायालय के संभावित फैसले के मद्देनजर लोगों से हर स्थिति में संयम बरतने की अपील की जा रही है। उन्होंने हालांकि उम्मीद जतायी कि इस मामले में बरसों से चल रही मुकदमेबाजी का अंतिम परिणाम बहुसंख्यक समुदाय के पक्ष में आयेगा।

गौरतलब है कि हिंदू समुदाय का एक बड़ा हिस्सा ये मानता है कि मुगल बादशाह बाबर ने 16वीं सदी में राम का मंदिर तुड़वाकर बाबरी मस्जिद बनवाया था। ऐसे में 1992 में कुछ कारसेवकों ने मिलकर बाबरी मस्जिद को तोड़कर तबाह कर दिया। इसके बाद से आजतक ये मामला अदालत में है कि दरअसल ये भूमि किस समुदाय की है।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया