देवदीपावली पर निखरी काशी के घाटों की छटा

Updated on: 14 July, 2020 08:03 PM

कार्तिक पूर्णिमा के पावन मौके पर काशी के गंगा घाटों पर मंगलवार को देवदीपावली मनाई गई। लोकपर्व हो चुके इस महाउत्सव का उल्लास धरती से आकाश तक छाया दिखा। लगभग सात किमी के दायरे में फैले गंगा तट और शहर व आसपास के जलाशयों, कुंडों तक सजे लाखों दीपों का प्रकाश पुरवासी के उल्लास के रूप में रोशन हुए। घाटों पर कहीं अमर शहीदों की स्मृति में दीपजल तो पितरों के सम्मान में आकाशदीपों का भी आरोहण हुआ।

शहीद परिवारों का सम्मान आयोजन की गरिमा बना। किसी घाट पर अखंड भारत, ओंकार की परिकल्पना के साथ बनी रंगोली को अंधकार में आकार देती दीपमालाएं दूर से ही आकर्षित कर रही थीं। रंगोली के माध्यम से राममंदिर को भी दर्शाया गया। प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल के अलावा कई न्यायाधीश, देश और दुनिया के सैकड़ो पर्यटक इस अलौकिक आयोजन के साक्षी बने।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया