छह फेरों के बाद दुल्हन ने सिर से घूंघट उठाया और कहा...

Updated on: 14 July, 2020 06:42 AM

उत्तर प्रदेश के कानपुर में जयमाला के बाद युवती ने दूल्हे के साथ छह फेरे लिए। सातवें फेरे पर रुक गई। बोली, दूल्हा काला और उम्रदराज है। शादी नहीं करूंगी। इससे दूसरे दिन बिठूर से आई बारात बैरंग लौट गई।

सचेंडी के एक गांव में शनिवार को किसान के बेटी की शादी थी। बारात बैंडबाजे के साथ बिठूर के नारामऊ से देर शाम पहुंची तो द्वारचार के बाद खान-पान और जयमाला हुआ। देर रात शादी की रस्म भी हुईं। वैदिक मंत्रों के बीच मंडप में सात फेरे लेने की बारी आई तो युवती ने अपनी सहेलियों के कान में कुछ कहा। छह फेरे पूरे होते ही एकाएक रुक गई। सिर से घूंघट उठाते हुए बोली, शादी नहीं करूंगी।

इससे हड़कंप मच गया। लज्जित मां-बाप ने वजह पूछी तो बताया कि दूल्हा उम्रदराज और काला है। दोनों पक्ष के बुजुर्ग और रिश्तेदारों ने लड़की को काफी समझाने की कोशिश की लेकिन किसी की भी बात नहीं मानी। हो-हल्ला होने पर कंट्रोल रूम की सूचना पर देर रात ही सचेंडी पुलिस पहुंच गई।

माजरा जानने के बाद लड़की की इच्छा की कदर की गई। पुलिस स्थिति को देखते हुए दोनों पक्ष को रात में ही सचेंडी थाना ले गई, जहां रविवार दोपहर तक पंचायत हुई। सचेंडी एसओ ने बताया कि दोनों पक्ष के खर्च और एक-दूसरे को दिए सामान लौटाने पर सहमति बनी है।



उत्तर प्रदेश के कानपुर में जयमाला के बाद युवती ने दूल्हे के साथ छह फेरे लिए। सातवें फेरे पर रुक गई। बोली, दूल्हा काला और उम्रदराज है। शादी नहीं करूंगी। इससे दूसरे दिन बिठूर से आई बारात बैरंग लौट गई।

सचेंडी के एक गांव में शनिवार को किसान के बेटी की शादी थी। बारात बैंडबाजे के साथ बिठूर के नारामऊ से देर शाम पहुंची तो द्वारचार के बाद खान-पान और जयमाला हुआ। देर रात शादी की रस्म भी हुईं। वैदिक मंत्रों के बीच मंडप में सात फेरे लेने की बारी आई तो युवती ने अपनी सहेलियों के कान में कुछ कहा। छह फेरे पूरे होते ही एकाएक रुक गई। सिर से घूंघट उठाते हुए बोली, शादी नहीं करूंगी।

इससे हड़कंप मच गया। लज्जित मां-बाप ने वजह पूछी तो बताया कि दूल्हा उम्रदराज और काला है। दोनों पक्ष के बुजुर्ग और रिश्तेदारों ने लड़की को काफी समझाने की कोशिश की लेकिन किसी की भी बात नहीं मानी। हो-हल्ला होने पर कंट्रोल रूम की सूचना पर देर रात ही सचेंडी पुलिस पहुंच गई।

माजरा जानने के बाद लड़की की इच्छा की कदर की गई। पुलिस स्थिति को देखते हुए दोनों पक्ष को रात में ही सचेंडी थाना ले गई, जहां रविवार दोपहर तक पंचायत हुई। सचेंडी एसओ ने बताया कि दोनों पक्ष के खर्च और एक-दूसरे को दिए सामान लौटाने पर सहमति बनी है।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया