ढोल बज रहे थे और बाराती कर रहे थे डांस, फिर अचानक बग्घी से कूदकर भाग दूल्हा

Updated on: 08 December, 2019 12:39 AM

उत्तर प्रदेश के बरेली में घुड़चढ़ी के दौरान रोड लाइट का तार बग्घी में लगे घोड़ों के पैरों में फंस गया। करंट लगने से दोनों घोड़ों की मौके पर मौत हो गई। बग्घी पर बैठे दूल्हे और बारातियों को भी करंट के झटके लगे। दूल्हे ने बग्घी से कूदकर जान बचाई। करंट दौड़ने के बाद बारात में भगदड़ मच गई।

फरीदपुर के मोहल्ला फर्रखपुर के नन्हे लाल के बेटे शिवम का विवाह आंवला के महमूदापुर की लड़की से तय हुआ था। बारातियों ने बताया की दूल्हे के परिवार वालों ने लड़की वालों को बारात के लिए फरीदपुर बुला लिया। फरीदपुर के मोहल्ला फर्रखपुर के दुर्गा मंदिर के बारात घर में शादी समारोह का आयोजन किया गया। गुरुवार देर रात बारात फरीदपुर में हाईवे स्थित एनबी टाकीज़ के सामने से चढ़नी शुरू हुई।

बारात में दो घोड़ों की बग्घी पर दूल्हा शिवम बैठा हुआ था। बाराती बैंड बाजे के साथ डांस करते हुए चल रहे थे। इसी दौरान बग्घी के पीछे लगे जेनरेटर से रोड लाइटों को गया बिजली का तार घोड़ों के पैरों में फंस गया। तार टूटने के बाद दोनों घोड़ों को करंट लग गया। घोड़े बिदककर गिर पड़े। बग्घी पर बैठे दूल्हे और बारातियों को मामूली झटके लगे। दूल्हा बग्घी से कूदकर भाग निकला। बारात में भगदड़ मच गई। बैंड बाजे वालों ने जेनरेटर बंद किया। तब तक दोनों घोड़ों की मौत हो चुकी थी। जिसके बाद दूल्हा बगैर बग्घी के बारात घर पहुंचा। देर रात तक बारातियों में दहशत का माहौल था। तमाम बाराती बगैर खाना खाये घर चले गए।


दुल्हन ने फेरे लेने से पहली दूल्हे के सामने रखी ऐसी शर्त, पूरी ना होने पर लौटी बारात

उत्तर प्रदेश के बिजनौर में दूल्हा मूकबधिर होने पर दूल्हन ने सात फेरे लेने से इंकार कर दिया। दूल्हन की जिद के आगे बारात बैरंग लौट गई। दरअसल, बारात आने के कुछ देर बाद दूल्हन को भनक लग गई थी, जिसने दूल्हे से नाम बुलवाने की शर्त रख दी। इस पर दुल्हन ने फेरे लेने से इंकार कर दिया। उस समय पर ग्रामीणों के समझाने बुझाने के बाद बारात वापस लौट गई। शुक्रवार को दोनों पक्षों के लोगों की गांव में पंचायत हुई। पंचायत में लेनदेन वापस करने को लेकर मारपीट हुई। मामला पुलिस में पहुंच गया है लेकिन पुलिस जानकारी से इंकार कर रही है।

गुरुवार को चांदपुर थाना क्षेत्र के गांव बुंदरा खुर्द में गुरुवार को एक व्यक्ति बेटी की शादी थी। बारात गांव देवीपुरा से आई थी। बारात की खातिरदारी हुई। बारातियों ने नाश्ता पानी करने के बाद खाना भी खा लिया था। बारात के खाना खाने के बाद दुल्हन को अचानक दूल्हे के मूकबधिर होने की भनक लग गई। फेरे लेने से पहले दुल्हन ने दूल्हे से अपना नाम बुलवाने की शर्त रख दी। इस बात को सुनकर सभी भौचके रह गए। लड़की की जिद के सामने बारातियों और घरातियों के होश उड़ गए। दोनों ओर दुल्हन को मनाने के काफी प्रयास किए गए, लेकिन दुल्हन नहीं मानी। इस बीच लड़की वालों ने बिचौलिये की तलाश शुरू कर दी। मिलने पर बिचौलिये से मारपीट की गई। बताया जा रहा है कि उस समय तो ग्रामीणों ने समझा-बुझाकर मामला शांत कर दिया। देर शाम बारात बैरंग लौट गई।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया