मोहनिया डी.एस.पी को तुरंत हटाए सरकार, ये शहर का अमन - चैन भी लुट लेगा ...

Updated on: 08 December, 2019 12:55 AM

भभुआ : मोहनिया में जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रिय अध्यक्ष और पुर्व सांसद राजेश रंजन उर्फ पप्पु यादव का कार्यक्रम अचानक रद्द हो गया. पप्पु यादव मोहनिया में कुछ दिनों पहले एक छात्रा से हुए दुष्कर्म और विडियो वायरल करने के सम्बन्ध में पीड़िता एवम उसके परिजनो से मिलने उनके गांव आ रहे थे. बाद में पता चला पीड़ित परिवार के घर ताला लगा हुआ है. मामलें की जानकारी देते हुए जन अधिकार पार्टी के नेता और भभुआ विधानसभा के पुर्व विधायक रामचन्द्र यादव ने प्रेसवार्ता में कहा की पप्पु यादव जी हमेशा अमानवीय कार्यो के खिलाफ खड़े रहते हैं. उन्होंने कई बार बलात्कार मामलें को लेकर कानून में संशोधन कर फांसी देने तक की बात लोकसभा में उठाते रहे हैं. आज पीड़ित परिवार से मिलने आ रहे थे लेकिन स्थानीय नेताओं की दकियानूसी राजनीति की शिकार पीड़ित परिवार घर पर नहीं है. उन्होंने स्थानीय नेताओं पर ठीकरा फोड़ते हुए कहा की पप्पु यादव के आने की खबर से पीड़ित परिवार को हटवा दिया. पीडित बच्ची एवम उसके परिजनो की पीड़ा को हमसब समझते हैं एवम संबंधित दोषियों पर अविलंब फांसी की सजा की मांग भी कर रहे हैं. उन्होंने कहा की सभी आरोपियों को प्रशासन द्वारा गिरफ्तार कर स्पीडी ट्रायल के तहत मुकदमा की सुनवाई कराने के आश्वासन के बाद भी मोहनिया को आग के हवाले करने की कोशिश हुई, जिसका जिम्मेवार सीधे मोहनिया के डी.एस.पी रघुनाथ सिंह हैं. इन्हें पता था की शहर के नहीं बल्कि शहर से बाहर के कुछ असमाजिक लोग अपने आप को तथाकथित तौर पर करणी सेना, रामसेना, पशुराम सेना, कृष्ण सेना बताकर स्थानीय लोगों को भड़काने की कोशिश किये, जब बात नहीं बनी तो खुद उपद्रवी बन गये. प्रशासन की इतनी बड़ी तादाद होने के बावजूद रघुनाथ सिंह ने माहौल को नियंत्रित नहीं किया. उन्होंने सीधेतौर पर डी.एस.पी रघुनाथ सिंह पर आरोप लगाते हुए कहा की बेगुनाह लोगों पर गलत तरीके से मुकदमा दायर किया गया है जो बिल्कुल बेबुनियाद है. रघुनाथ सिंह को तत्काल यहां से हटाया नहीं गया तो माहौल आगे भी खराब होने की आशंका है. निजी मतभेद के चलते समाजसेवियों पर फर्जी मुकदमा करने के बजाए प्रशासन विडियो फुटेज के माध्यम से जांच करें एवम जो लोग दोषी हैं सिर्फ उन्हीं पर मुकदमा दायर करें. निर्दोष लोगों को फसाने पर पार्टी के सभी कार्यकर्ता चुप चाप नहीं बैठेंगे. विदित हो कुछ दिनों पहले दसवीं में पढ़ने वाली एक छात्रा को मोहनिया के ही कुछ असमाजिक युवकों ने सामुहिक दुष्कर्म कर उसका विडियो बना कर वायरल कर दिया था. जिससे स्थानीय लोगों का गुस्सा कुछ इस कदर उमड़ा की स्थिति बिल्कुल भयावह हो चुकी थी. आसपास के सभी जिलों की पुलिस, पारामलेट्री फोर्स सहित डी.एम, एस.पी सब हाई अलर्ट हो गये. धारा 144 भी लगानी पड़ी. तुरन्त उत्तरप्रदेश एवम पटना में शरण लिए अभियुक्तों को दबोच भी लिया गया. अधिवक्ता संघ ने भी आरोपियों के पक्ष में केस लड़ने से इंकार कर दिया. सभी आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद भी शहर में अमन चैन स्थापित नहीं हो पाया. पुनः धारा 144 लागू करना पड़ा. हालांकि अब स्थिती समान्य है.

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया