प्रदर्शन में 'फ्री कश्मीर' पोस्टर पर महाराष्ट्र सरकार लेगी एक्शन, गृह मंत्री बोले- हो गई है पहचान

Updated on: 02 July, 2020 10:52 AM

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय यानी जेएनयू में रविवार को हुई हिंसा के खिलाफ मुंबई में सोमवार देर शाम से जारी प्रदर्शन आज खत्म हो गया। महाराष्ट्र में प्रदर्शनकारियों को गेटवे ऑफ इंडिया से आजाद मैदान शिफ्ट कर दिये जाने के बाद प्रदर्शन को खत्म कर दिया गया। इस बीच महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कहा है कि गेटवे ऑफ इंडिया प्रदर्शन की जगह नहीं है। उन्होंने आगे कहा कि प्रदर्शन के दौरान 'फ्री कश्मीर' का पोस्टर लहराने वाली महिला के खिलाफ मुंबई पुलिस कानूनी कार्रवाई करेगी।

दरअसल, सोमवार को मुंबई के गेटवे ऑफ इंडिया पर जेएनयू हिंसा के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान एक महिला ने 'फ्री कश्मीर' का पोस्टर लहराया था। मुंबई पुलिस ने उस महिला की पहचान कर ली है। उस महिला का नाम तेजल प्रभु उर्फ मिर्जा प्रभु के रूप में हुई है। 37 वर्षीय महिला प्रभु एक कवि और स्टोरीटेलर हैं।

टॉक टुडे न्यूज़ से गृह मंत्री देशमुख ने स्पष्ट कहा कि गेटवे ऑफ इंडिया वह जगह नहीं है, जहां लोग प्रदर्शन करे। यहां प्रदर्शन करने से मुंबई के लोगों को समस्या होती है और ट्रैफिक पर भी इसका असर पड़ता है। उन्होंने कहा कि हम गेटवे ऑफ इंडिया पर प्रदर्शन कर रहे किसी भी स्टूटेंड के खिलाफ मुकदमा दर्ज नहीं करेंगे। हमने सिर्फ प्रदर्शन स्थल को बदलकर आजाद मैदान किया है।


देशमुख ने आगे कहा कि पुलिस ने 'फ्री कश्मीर' पोस्टर के साथ विरोध कर रही महिला की शिनाख्त कर ली है। हमने उसकी पहचान कर ली है और उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे। हमने प्रदर्शनकारियों से अनुरोध किया है कि वे ऐसा कोई तख्तापलट न करें जो उन्हें संकट में डाले।

दरअसल, रविवार को जेएनयू कैंपस में नकाबपोश हमलावलों ने करीब 4 घंटे तक तांडव मचाया था और छात्रों-शिक्षकों को बुरी तरह पीटा था। जेएनयू हिंसा में करीब 28 लोग घायल हो गए थे, जिमनें जेएनयू छात्र संघ अध्यक्ष आइशी घोष भी शामिल थीं।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया