कश्मीर: बर्फ में फंसे तारिक इकबाल की सेना ने बचाई जान

Updated on: 06 July, 2020 10:01 AM

जम्मू-कश्मीर में लगातार हो रही बर्फबारी में तारिक इकबाल नामक एक नागरिक फंस गया था। सेना के जवानों ने जानकारी मिलते ही लच्छीपूरा में रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर बर्फ में दबे तारिक को सुरक्षित बाहर निकाल लिया। इसके बाद उसे स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया। तबीयत ठीक होने पर बाद में उसे हॉस्पिटल से डिस्चार्ज कर दिया गया है। यह घटना बीते 14 जनवरी की है।

इससे पहले कश्मीर में एक महिला को प्रसव संबंधी समस्या होने पर भारतीय सेना के कल्याणकारी दल 'खैरियत' के जवानों ने कमर तक गहरी बर्फ में पैदल चलकर महिला को समय पर अस्पताल पहुंचाया, जहां उसने एक स्वस्थ बच्चे को जन्म दिया।

सेना के जवानों की इस पहल के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी सराहना की है। उन्होंने कहा कि जब भी लोगों को मदद की जरूरत होती है तो सेना के जवान खड़े रहते हैं।

उत्तरी कश्मीर स्थित बारामुला के तंगमर्ग क्षेत्र के दर्द पोरा गांव निवासी रियाज मीर ने मंगलवार को परेशानी की अवस्था में सेना के दल को कॉल कर सूचना दी कि उसकी पत्नी को प्रसव पीड़ा हो रही है और उसका परिवार भारी बर्फबारी के कारण अस्पताल ले जाने में असमर्थ हैं।

जानकारी मिलते ही तुरंत तीन दल बनाए गए। एक दल ने प्रसूता महिला के लिए सड़क का रास्ता साफ किया, दूसरे दल ने हेलिपैड तक बर्फ साफ की और तीसरे ने कनिसपोरा तक बर्फ हटाकर बारामुला जिला मुख्यालय से क्षेत्र को जोड़ने वाला रास्ता साफ किया।

सौ से अधिक जवानों और 25 नागरिकों ने छह घंटे चले अभियान में हिस्सा लिया और महिला को स्ट्रेचर पर लिटाकर कमर तक गहरी बर्फ में पैदल ही उपलोना तक ले जाया गया। उपलोना पहुंचकर महिला को सेना की एम्बुलेंस में सेना के एक चिकित्सा अधिकारी के साथ बारामुला अस्पताल भेज दिया गया।

सेना के जवान रास्ते भर एम्बुलेंस के आगे बर्फ हटाते रहे। सेना का दल मीर के परिवार के साथ तब तक रहा जब तक महिला ने बच्चे को जन्म नहीं दे दिया।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया