सार्स से ज्यादा खतरनाक होता जा रहा कोरोना वायरस, एक ही दिन में 73 लोगों की मौत

Updated on: 15 July, 2020 11:07 PM

चीन में महामारी का रूप ले चुके कोरोना वायरस सार्स से ज्यादा खतरनाक हो रहा है। कोरोना से मरने वालों की संख्या 636 पहुंच गई है, जबकि 31 हजार से अधिक लोग इस वायरस से संक्रमित पाए गए हैं। चीन में सार्स से 800 लोगों की मौत हुई थी और करीब तीस हजार लोग इससे संक्रमित हुए थे। चीन में 17 साल पहले सार्स बीमारी से विकास दर पर भी काफी प्रतिकूल असर पड़ा था।

चीन के राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग ने शुक्रवार (7 फरवरी) को बताया कि एक दिन में 73 लोगों की मौत हो गई। इनमें वुहान में 69 लोगों की और जिलिन, हेनन, ग्वांगडोंग व हैनान प्रांतों में एक-एक व्यक्ति के मरने की खबर है। चीनी अधिकारियों ने दलील दी कि हुबेई प्रांत में मृतकों और पुष्ट मामलों की संख्या इसलिए बढ़ रही है क्योंकि वहां अस्पतालों तथा बिस्तरों की कमी है। अधिकारियों ने मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए इलाज के लिए टेंट अस्पताल तथा मोबाइल क्लिनिक भी शुरू किए हैं।

चीन ने वायरस के डर के कारण उड़ानें रद्द किए जाने पर कई देशों के समक्ष कूटनीतिक विरोध भी दर्ज कराया है। एक प्रवक्ता ने कहा, कुछ देशों ने उड़ानें रद्द करने जैसे कदम उठाए हैं। आईसीएओ (अंतरराष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संगठन) ने भी बुलेटिन जारी किए हैं और सभी देशों को डब्ल्यूएचओ की सिफारिशों का पालन करने के लिए प्रेरित किया है। एयर इंडिया और इंडिगो समेत कई अंतरराष्ट्रीय विमानन कंपनियों ने वायरस के दुनियाभर में फैलने के डर से चीन जाने वाली उड़ानें रद्द कर दी हैं। भारत और अमेरिका समेत कई देशों ने यात्रा प्रतिबंधों की भी घोषणा की है।

ब्रिटेन, जर्मनी, इटली में बढ़ रहे नए मामले
ब्रिटेन, जर्मनी और इटली ने चीन से कोरोना वायरस के नए मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। यूरोप में इस वायरस से संक्रमित होने वाले लोगों की कुल संख्या 31 हो गई है। जर्मनी में दो मामलों को छोड़कर सभी मामले वाहनों, कलपुर्जों की आपूर्ति करने वाली कंपनी वेबेस्टो से जुड़े हुए हैं। इस कंपनी का मुख्यालय म्यूनिख के पास है, जहां इन संक्रमित व्यक्तियों का एक चीनी साथी गया था। जर्मनी में कोरोना वायरस के जिस 13वें मामले की बायर्न स्वास्थ्य मंत्रालय ने घोषणा की है, वह वायरस के संक्रमण से पीड़ित एक कर्मचारी की पत्नी है। ब्रिटिश अधिकारियों ने तीसरे मामले की पुष्टि की है और कहा कि मरीज ब्रिटेन में संक्रमण की चपेट में नहीं आया है। उन्होंने इस बारे में विस्तार से कुछ नहीं बताया। दो अन्य मामले इंग्लैंड की यॉर्क यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले एक चीनी छात्र और उसके एक रिश्तेदार के हैं। इटली ने वायरस से संक्रमित होने वाले पहले मामले की घोषणा की है। यह व्यक्ति वुहान में वायरस की चपेट में आया, जहां वह रहता था।

जापान के एक क्रूज जहाज पर 41 लोग कोरोना के शिकार
जापान ने अपने एक अलग-थलग किए गए क्रूज जहाज पर शुक्रवार (7 फरवरी) को कोरोना वायरस के 41 नए मामले दर्ज किए। वहीं, अपने एक लग्जरी जहाज को वापस बुला लिया। हजारों यात्रियों एवं चालक दल के सदस्यों के साथ लंगर डाले हुए दो जहाज हांगकांग और जापान में 14 दिनों से अलग-थलग रखे गए हैं। शुक्रवार को 41 मामलों की पुष्टि से पहले 20 संक्रमित यात्रियों को तोक्यो के पास डायमंड प्रिंसेस से उतारा गया। इस जहाज पर करीब 3700 लोगों के सवार होने की पुष्टि हुई है।

विमान में उल्टी करने वाले यात्री को निगरानी में रखा
दिल्ली से पुणे जा रही एअर इंडिया की एक उड़ान में बीच रास्ते में एक यात्री के उल्टी करने के बाद उसे शुक्रवार (7 फरवरी) को अस्पताल के पृथक केंद्र में भर्ती कराया गया। कोरोना वायरस से संक्रमण के संदेह में उसे अस्पताल में अलग रखा गया है। एअर इंडिया के एक अधिकारी ने बताया कि सुबह पुणे हवाईअड्डे पर विमान के उतरने के बाद यात्री को अस्पताल में भर्ती कराया गया।

शी जिनपिंग ने ट्रंप से बात की
चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के साथ कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर शुक्रवार (7 फरवरी) को बात की। जिनपिंग ने ट्रंप से इस महामारी का आकलन संयमित रहकर करने को कहा। उन्होंने अमेरिका से अपील की कि वह इस संक्रमण को काबू करने में चीन के प्रयासों के अनुरूप उचित तरीके से प्रतिक्रिया दे। शी ने बताया कि चीन सरकार और लोग इस संक्रमण को रोकने के लिए हर संभव कोशिश कर रहे हैं। हांगकांग के टीवी चैनल के हवाले से बताया गया कि शी ने ट्रंप को फोन पर बताया कि चीन को पूरा भरोसा है कि वह इस महामारी को काबू में कर लेगा और वह ऐसा करने में सक्षम है। उन्होंने बताया कि चीन बेहतरी के लिए आर्थिक विकास के पथ पर आगे बढ़ना जारी रखेगा।

दुनियाभर में मास्क की कमी : डब्ल्यूएचओ
विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के प्रमुख ने शुक्रवार (7 फरवरी) को चेताया कि कोरोना वायरस को फैलने से रोकने वाले मास्क और अन्य सुरक्षा उपकरणों की दुनियाभर में कमी हो रही है। तेदरोस अदहानोम गेब्रेयसस ने जिनेवा में डब्ल्यूएचओ के कार्यकारी बोर्ड को बताया, विश्व व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण की भारी कमी का सामना कर रहा है। वहीं, नेपाल ने कमी को दूर करने के लिए चीन को एक लाख मास्क दिए हैं।

मास्क न पहनने वालों को देश से बाहर निकालेंगे : थाई मंत्री
थाईलैंड के स्वास्थ्य मंत्री ने शुक्रवार (7 फरवरी) को पश्चिमी देशों के पर्यटकों को मास्क न पहनने के लिए फटकारा। उन्होंने कहा कि मास्क नहीं पहनने वालों को देश से बाहर निकाल दिया जाएगा। थाईलैंड के स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि पश्चिमी देशों के पर्यटक कोरोनो वायरस प्रकोप के दौरान दूसरों को जोखिम में डाल रहे हैं। अधिकतर पर्यटक बिना मास्क के घूम रहे हैं। a

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया