काशियाना फाउंडेशन द्वारा आयोजित नशा मुक्त भारत में युवाओं की भूमिका संगोष्ठी का आयोजन संपन्न

Updated on: 14 July, 2020 11:49 PM
आज काशियाना फाउंडेशन द्वारा आयोजित नशा मुक्त भारत युवाओं की भूमिका राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन सारनाथ स्थित केंद्रीय उच्च तिब्बती अध्ययन विश्वविद्यालय में किया गया जिसके मुख्य अतिथि महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के कुलपति प्रोफेसर पीएन सिंह जी कार्यक्रम की अध्यक्षता रहे केंद्रीय तिब्बती अध्ययन विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर गेशे नवांग सामतें जी और कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि के रुप में उपस्थित होमी भाभा कैंसर हॉस्पिटल के श्री राजेन्द्र प्रसाद जयसवारजी और कार्यक्रम की गरिमामय उपस्थिति रही कुलसचिव आर के उपाध्याय आकाशवाणी केंद्र के निदेशक राजेश कुमार गौतम जी डॉ उत्तम ओझा जी डॉक्टर संजय चौरसिया जी डॉक्टर सुनील मिश्रा जी ने किया कार्यक्रम का संचालन काशियाना फाउंडेशन के संस्थापक सुमित सिंह जी ने किया और कार्यक्रम के धन्यवाद ज्ञापन डॉक्टर संजय चौरसिया जी ने किया कार्यक्रम की शुरुआत महात्मा गौतम बुद्ध महात्मा गांधी जी के विचारों पर उन्हें नमन करते हुए किया गया। *कार्यक्रम के मुख्य अतिथि रहे कुलपति प्रोफेसर टी एन सिंह जी ने बताया कि व काशियाना फाउंडेशन द्वारा यह आयोजन पूरे विश्व में यह संदेश देने के लिए काफी है कि आज जो युवा वर्ग नशे में सम्मिलित हो रही। वहीं बनारस के युवाओं द्वारा काशी को साथ ही साथ पूरे भारत को नशा मुक्त करने का संकल्प लिया है कि सच में आने वाले भविष्य का इतिहास होगा बतौर अतिथि कुलपति जी ने बताया कि हमें ऐसे कार्यक्रमों को निरंतर करने होंगे साथ ही साथ विश्वविद्यालय को लेते हुए और एकेडमिक जो की क्लास 12 तक के बच्चों के भी स्कूल है उसमें भी ऐसे आयोजन निरंतर होते रहे तो अवश्य भारत नशा मुक्त जरूर होगा आगे कुलपति जी ने बताया कि महात्मा गांधी जी का संकल्प थी भारत को आजादी नशा मुक्ति से भी चाहिए तभी भारत श्रेष्ठ देश बनकर समाज में।* *कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए केंद्रीय उच्च तिब्बती अध्ययन विश्वविद्यालय के कुलपति जी ने बताया कि संस्था जिस प्रकार से आयोजन कर रही है ऐसे आयोजन समाज में निरंतर होते रहे साथ ही साथ हमें एक थीम की तहत भारत को नशा मुक्त करने के लिए एक नेटवर्क की तरह कार्य करना होगा जिसमें कई सारे संस्थाओं को जोड़ें साथी साथ विश्वविद्यालय को और आने वाले समय में हर एक व्यक्ति को इस चैन में जुट कर भारत को नशा मुक्त करने में उनकी सहभागिता की भी जरूरत है।* *काशियाना फाउंडेशन के संस्थापक सुमित सिंह ने बताया कि विगत 5 वर्षों से संस्था हमारी भारतवर्ष में लगातार देश को नशा मुक्त करने का जो बीड़ा उठाया है उसे उड़ता है अपने उर्जा से कार्य कर रही है। आगे सुमित सिंह बताते हैं कि महात्मा बुद्ध के पंचशील सिद्धांतों से उनके पहले जो सिद्धांत है वह थे हिंसा न करना दूसरा झूठ न बोलना तीसरा चोरी न करना चौथा व्यभिचार और मुख्य सिद्धांत महात्मा बुद्ध के पांचवा और अंतिम सिद्धार्थ नशा मुक्ति की ओर देश को ले जाने का जो संकल्प उन्होंने 2500 साल पहले दिया था उसी सिद्धांतों को आगे बढ़ाते हुए महात्मा गांधी ने 1917 में चंपारण में अलख जगाते हुए कहा था की अब देश को नशा मुक्त करने की जरूरत है। क्योंकि नशा मुक्ति से ही होगी स्वच्छता की युक्ति। 2014 के मन की बात में माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने भारत को नशा मुक्त होने के लिए आग्रह किया और युवाओं से विशेष तौर पर अपील की थी अब युवाओं को नशा मुक्त होने की जरूरत है जो नशा है वह नाश करता है आपको नहीं सिर्फ आपके परिवार को और आपके समाज को भी करता है।उसी सिद्धांतों पर काशियाना फाउंडेशन विगत 5 वर्षों से भारत को नशा मुक्त करने के लिए संकल्प ली है और समाज में ऐसे कार्यक्रम करने के लिए हमेशा तत्पर है कार्यक्रम करने का जो उद्देश्य आज केंद्रीय संस्थान में हमारा था कि आज शिक्षा की राजधानी साथ ही साथ संस्कृति की राजधानी कही जाने वाली काशी से सारनाथ स्थित तिब्बती विश्वविद्यालय से जो मैसेज समाज में जाएगा उससे भारत एक दिन जरूर नशा मुक्त होगा।* कार्यक्रम के दौरान 150 की शंख्या में छात्र व अम्बरीष सिंह भोला, आशीष राय, भावेश सेठ ( उपाध्यक्ष, काशियाना फाउंडेशन )बृजेश चौधरी धनंजय यादव देवेश सिंह सुधांशु सिंह सनी सिंह आदि लोग उपस्थित रहे।
View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया