कोरोना वायरस से भारत में अब तक दो की मौत, मरने वालों को पहले से थीं कई बीमारियां

Updated on: 30 March, 2020 06:01 PM

चीन, ईरान, इटली समेत दुनियाभर के कई देश कोरोना वायरस की चपेट में हैं। भारत में अब तक 83 लोगों की कोरोना वायरस रिपोर्ट पॉजिटिव आ चुकी है। कर्नाटक के कलबुर्गी और दिल्ली में एक-एक बुजुर्ग की मौत भी हुई है। हालांकि, जिन दो बुजुर्गों की कोरोना वायरस के चलते जान गई है, उन्हें कई और भी बीमारियां थीं।

कलबुर्गी के रहने वाले बुजुर्ग पहले से काफी बीमार थे। उन्हें उच्च रक्तचाप, मधुमेह, अस्थमा और अपेंडिक्स की समस्या थी। डॉक्टरों का कहना है कि इससे यह बात एक बार फिर स्पष्ट हो गई है कि कोरोना का संक्रमण उन लोगों के लिए ही जानलेवा साबित हुआ है जो स्वस्थ नहीं थे। वहीं, दिल्ली में कोरोना वायरस के चलते जान गंवाने वालीं बुजुर्ग महिला मधुमेह और हाईपरटेंशन से भी पीड़ित थीं।

स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारी के अनुसार, महिला के खून के नमूने आठ मार्च को लिए गए थे। निमोनिया की शिकायत के बाद उनकी हालत और खराब हो गई। नौ मार्च से उसे श्वसन संबंधी परेशानी थी जिसके बाद उसे वेंटिलेटर पर रखा गया।

बेटे के संपर्क में आई थी महिला

दिल्ली की बुजुर्ग महिला कोरोना वायरस से संक्रमित अपने बेटे के संपर्क में आई थी, जिसने पांच से 22 फरवरी के बीच स्विट्जरलैंड और इटली की यात्रा की थी। वह 23 फरवरी को भारत लौटा था। स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारी के अनुसार, कोरोना वायरस से संक्रमित महिला राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती थीं।

सउदी अरब से लौटा था कलबुर्गी का बुजुर्ग

स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारी ने बताया था कि कर्नाटक के कलबुर्गी में कोरोना के चलते जान गंवाने वाले बुजुर्ग सऊदी अरब से लौटे थे। उन्होंने कहा था कि सउदी अरब से वापसी के बाद उसमें वायरस संक्रमण के कोई लक्षण नहीं थे। बाद में छह मार्च को उसे बुखार और खांसी हुई। एक डॉक्टर ने उसके घर जाकर उसे देखा और इलाज किया। उन्होंने बताया, 'लक्षण ज्यादा दिखने पर नौ मार्च को उसे कलबुर्गी के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। इस निजी अस्पताल में उसके वायरल न्यूमोनिया से ग्रस्त होने और कोविड-19 से संक्रमित होने की आशंका की बात सामने आई।'

दुनियाभर में 1,34,300 से ज्यादा लोग संक्रमित

वैश्विक महामारी का रूप धारण कर चुका कोरोना वायरस संक्रमण 5,000 से अधिक लोगों की जान ले चुका है और दुनियाभर में 1,34,300 से ज्यादा लोग इससे संक्रमित हैं। कोरोना वायरस के दिन-ब-दिन बढ़ते प्रकोप के कारण विश्वभर में जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है, अस्पतालों में मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है, स्कूल, कॉलेज, कार्यालय, स्टेडियम बंद हो रहे हैं और वित्तीय एवं आर्थिक गतिविधियों पर इसका बहुत बुरा असर पड़ रहा है।

अमेरिका में राष्ट्रीय आपातकाल घोषित

डोनाल्ड ट्रंप ने शुक्रवार को राष्ट्रीय आपातकाल की घोषणा की, इससे कोरोना वायरस महामारी से निपटने के लिए संघीय कोष से सरकार को 50 अरब डॉलर की राशि मिलेगी। इस जानलेवा विषाणु से अमेरिका में 41 लोगों की मौत हो चुकी है। यह अमेरिका के 50 राज्यों में से 46 में फैल चुका है और देशभर में करीब 2,000 मामले सामने आए हैं। व्हाइट हाउस के लॉन में ट्रंप ने एक बयान में कहा, 'संघीय सरकार की पूर्ण शक्ति का उपयोग करने के लिए मैं आधिकारिक तौर पर राष्ट्रीय आपातकाल की घोषणा करता हूं।'

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया