वाराणसी: तंगी में पिता ने मजदूरी को कहा तो कर लिया आत्मदाह

Updated on: 04 June, 2020 03:16 AM

जैतपुरा थाना क्षेत्र के सरैया के भालू-बंदर तकिया इलाके में मजदूरी के लिए दबाव बनाये जाने को लेकर विवाद के बाद युवक ने आत्मदाह कर लिया। शाम को कबीरचौरा स्थित मंडलीय अस्पताल में इलाज के दौरान युवक अब्दुल फैसल (20) की मौत हो गई। वह ई-रिक्शा चलाता था। इस समय घर पर ही था। घर में खाने के लाले पड़ गए थे। इस पर पिता नसीम शाह ने साथ में चलकर मजदूरी करने के लिए कहा था। घटना के बाद पुलिस ने शव कब्जे में ले लिया।

बताया जा रहा है कि सुबह पिता ने अपने और भाई के साथ चलकर मजदूरी करने के लिए कहा। ताकि घर का कुछ खर्च निकल सके। इसे लेकर पिता से अब्दुल का विवाद हो गया। विवाद के बाद गुस्साए फैसल ने खुद पर केरोसिन उड़ेल कर आग लगा ली और पास की गली में दौड़ने लगा। आग से छटपटाया तो भागकर घर पहुंचा। पिता ने टब में भरा पानी उस पर फेंका तो आग बुझी। इसके बाद जैसे-तैसे उसे मंडलीय अस्पताल पहुंचाया गया। मां नसीमा ने बताया कि बचाने में छोटा पुत्र अब्बू तालीम और पति भी झुलस गए।

वहीं, जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा का कहना है कि पिता ने किसी बात पर युवक को डांटा था इसके बाद उसने यह कदम उठाया। उसकी मौत के पीछे आर्थिक तंगी जैसी कोई बात सामने नहीं आयी है।

बुनकरी के बाद ऑटो चलाने लगा था पिता
क्षेत्रीय पार्षद हाजी ओकास अंसारी ने बताया कि घरवालों से बात हुई। पता चला कि चार माह पहले पिता बुनकरी का काम करते थे। इसके बाद सेकेंड हैंड ई-रिक्शा खरीदा। दो माह पहले ही अब्दुल ने नया ई-रिक्शा लोन लेकर लिया था। इसकी किस्त भी नहीं भर पा रहा था। इससे दबाव में था। बताया कि परिवार को कोई भी मदद नहीं मिली थी। पूर्व विधायक अजय राय और कांग्रेस के नगर अध्यक्ष राघवेंद्र चौबे, पार्षद हाजी ओकास अंसारी, रमजान अली, पार्षद सफीकुज्जमा अंसारी, डॉ. अख्तर अली, डॉ. संजय सिंह आदि ने परिवार को सांत्वना दी।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया