यूपी : प्रेमिका और बेटी की हत्या करने वाले शमशाद की पुलिस से मुठभेड़, लगी चार गोलियां

Updated on: 12 August, 2020 11:37 AM

उत्तर प्रदेश के प्रेमिका और उसकी बेटी की हत्या करने वाले आरोपी शमशेद की पुलिस के मुठभेड़ हो गई। इस एनकाउंटर में शमशेद को चार गोलियां लगी है जिसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इस डबल मर्डर केस में पुलिस ने शमशेद को गिरफ्तार किया था लेकिन वह उनकी गिरफ्त से किसी तरह भाग निकला।

दरअसल, शमशाद उर्फ अमित गुर्जर ने प्रेमिका प्रिया और उसकी मासूम बेटी कशिश को गला दबाकर मार डाला। दोनों की लाश चादर में पैक करके घर के अंदर जमीन में गाड़ दी। पुलिस ने विकास दुबे के घर की तर्ज पर आरोपी का मकान बुल्डोजर से गिराते हुए मां-बेटी के कंकाल बरामद कर लिए हैं। शव बरामद करते जाते समय आरोपी पुलिस हिरासत से फरार हो गया।

गाजियाबाद में लोनी निवासी प्रिया की शादी करीब 12 साल पहले मोदीनगर में खंजरपुर गांव के राजीव से हुई। दो साल बाद ही दोनों में तलाक हो गया। प्रिया मोदीनगर आकर चंचल चौधरी के मकान में किराए पर रहने लगी। पांच साल पहले उसकी दोस्ती कथित अमित गुर्जर से फेसबुक पर हुई। अमित के बुलावे पर वह बेटी सहित मेरठ आ गई। यहां वह करीब चार साल तक खरखौदा थाना क्षेत्र की कांशीराम आवासीय कॉलोनी में रही। दो साल पहले प्रिया को पता चला कि प्रेमी का नाम अमित नहीं शमशाद है। दोनों में यहीं से विवाद शुरू हो गया। पहले से शादीशुदा शमशाद प्रिया से शादी का झांसा देता रहा।

28 मार्च 2020 को प्रिया (30) व कशिश (11) एकाएक लापता हो गईं। प्रिया की सहेली चंचल ने 14 जुलाई को परतापुर थाने में शमशाद निवासी भूड़बराल के खिलाफ अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया। इस प्रकरण को प्रमुखता से प्रकाशित किया तो पुलिस हरकत में आई। छानबीन में हत्या की पुष्टि के बाद पुलिस ने बुधवार तड़के भूड़बराल स्थित शमशाद के घर से दोनों लाशों के कंकाल बरामद कर लिए। पुलिस के अनुसार शमशाद ने 28 मार्च की रात को ही दोनों की गला दबाकर हत्या कर दी थी। शवों को अपने कमरे में फर्श तोड़कर नीचे दबा दिया था।

View More

24x7 HELP

Visitor
अब तक देखा गया